आज से बदल गए BANK के ये नियम

0
8



बजट के अलावा भी कई और बदलाव हैं जो की 1 जुलाई से BANK करने जा रहे हैं. ये बदलाव सीधा आपके रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़े हुए हैंSBI भी एक जुलाई से अपने कुछ नियमों में बदलाव करने जा रहा है. जिसका सीधा असर उसके करोड़ों ग्राहकों पर पड़ने वाला है नई दिल्ली. मई का महीना खत्म हो चुका है.इसी के साथ जुलाई का महीना शुरू हो गया. जुलाई के महीने में कई बड़े बदलाव होने जा रहे हैं. 5 जुलाई को मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बजट लेकर आ रही है. इस बजट का इंतजार आम आदमी टकटकी लगाकर कर रहा है. आद आदमी ने इस बजट के काफी उम्मीदे लगा रखी है.
1 जुलाई से होने जा रहा है बड़ा बदलाव-
बजट के अलावा भी कई और बदलाव हैं जो की 1 जुलाई से BANK करने जा रहे हैं. ये बदलाव सीधा आपके रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़े हुए हैं. ये नए नियम आपकी जिंदगी पर सीधा असर ड़ालने वाले हैं. तो आईए जानते हैं उन नियमों के बारे में…..
आरबीआई ने उठाया ये कदम-
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया यानी की आरबीआई ने अपनी मौद्रिक नीति की बैठक में कई बड़े फैसले लिए थे. आरबीआई ने ऑनलाइन ट्रांजिक्शन करने वाले खाता धारकों को नई सौगात दी है.जो कि 1 जुलाई से लागू होने जा रहे हैं. आरबीआई रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्टम औप नेशनल इलेक्टॉनिक फंड्स टिरांसफर सिस्टम के जरिए ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करने वाले ग्राहकों से 1 जुलाई से किसी भी तरह का चार्ज नहीं लेगा.आरबीआई ने कदम देश में ऑनलाइन ट्रांजिक्शन को बढ़ावा देने के लिए उठाया हैं.
छोटी बचत योजना में हो सकता है बदलाव-
1 जुलाई से छोटी बचत योजनाओं पर भी असर पड़ेने वाला है. दरअसल आम लोगों को पब्लिक प्रोविडेंट फंड(PPF), सुकन्या योजना या फिर नेशनल सेविंग स्कीम के तहत निवेश पर मिलने वाले ब्याज में कमी हो सकती है. पीएम मोदी 1 जुलाई से छोटी बचत योजनाओं के ब्याज दरों में कटौती का ऐलान कर सकते हैं.
एसबीआई ने किया नियमों में बदलाव–
SBI भी एक जुलाई से अपने कुछ नियमों में बदलाव करने जा रहा है. जिसका सीधा असर उसके करोड़ों ग्राहकों पर पड़ने वाला है.एसबीआई 1 जुलाई से रेपो रेट से जुड़े होम लोन ऑफर किए जाएंगे.यानी कि फिर एसबीआी होम लोन की ब्याज दर पूरी तरह से रेपो रेट पर आधारित होगी.यानी की जब भी आरबीआी अपने रेपो रेट में किसी तरह का बदलाव करेगा. उसका सीधा असर एसबीआई के ग्राहकों पर पड़ेगा.
बेसिक अकाउंट होल्डर्स को मिलेगी चेक सुविधा-
रिजर्व बैंक के नए नियमों के मुताबिक बेसिक खाताधारक भी चेकबुक और अन्य सुविधाएं ले सकेंगे.साथ ही बैंक इन सुविधाओं के लिए खाताधारकों को कोई न्यूनतम राशि रखने के लिए नहीं कह सकते हैं.रिजर्व बैंक के नए नियमों के अनुसार अब खाताधारक हर महीने में कम से कम 4 बार धन की निकासी की सुविधा को भी पा सकेगें. मिनिमम बैलेंस रखने नहीं होगा जरूरी-
इन नए नियमों को जारी करते हुए रिजर्व बैंक ने सभी बैंको से कहा है कि इन नियमों में छूट का फायदा हर ग्राहक तक जल्द से जल्द पहुंचाना चाहिए.बता दें कि अभी इन खाताधारकों के चेकबुक जैसी अतिरिक्त सुविधा लेने पर बेसिक बचत खाता सामान्य खाते में बदल जाता है और ग्राहकों को मिनिमम बैलेंस रखने के लिए बाध्य होना पड़ता है.साथ ही कई तरह के चार्ज भी देने पड़ते हैं.
जमा करने की नहीं होगी कोई सीमा-
इन खाताधारकों को महीने में चार बार बिना शुल्क धन निकासी की सुविधा मिलेगी, जिसमें एटीएम से निकासी भी शामिल होगी.हालांकि, जमा करने की कोई सीमा नहीं रखी गई है. Trending Tags- Aaj Ka Taja Khabar | Current News Today | News Today शेयर करें