कश्मीर में सैनिकों की अतिरिक्त तैनाती पर महबूबा मुफ्ती ने जताई आपत्ति, कही ये बात…

0
1



महबूबा ने ट्वीट कर कहा कश्मीर में सुरक्षा बलों की कोई कमी नहीं है. जम्मू-कश्मीर एक राजनीतिक समस्या है केंद्रीय गृहमंत्रालय की ओर से कश्मीर में 10 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती होने से अलगाववादी भयभीत जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooa Mufti) ने घाटी में अतिरिक्त 10 हजार सैनिकों की तैनाती के केंद्र सरकार के फैसले पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा है इस फैसले से सरकार ने राज्य के लोगों में भय जैसा माहौल पैदा कर दिया है. महबूबा ने ट्वीट कर कहा कश्मीर में सुरक्षा बलों की कोई कमी नहीं है. जम्मू-कश्मीर एक राजनीतिक समस्या है जो सैन्य साधनों से हल नहीं होगी. केंद्र सरकार को अपनी नीति पर पुनर्विचार और सुधार करने की आवश्यकता है.’ एनएसए (NSA) चीफ के दौरे बाद ही मोदी सरकार ने राज्य में 10 हजार अतिरिक्त सुरक्षाबल जवानों की तैनाती की है. डोभाल ने अपने दौरे दौरान जम्मू-कश्मीर में कानून व्यवस्था को लेकर राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की थी. जानकारी के मुताबिक बैठक में जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजी दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) ने उत्तरी कश्मीर में अतिरिक्त सुरक्षा बल की मांग की थी. भयभीत हुए अलगाववादी केंद्रीय गृहमंत्रालय की ओर से कश्मीर में 10 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती होने से अलगाववादी भयभीत हैं. मोदी सरकार में अलगाववादियों पर शुरू से ही शिकंजा कसता जा रहा है. कई अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा भी हटा ली गई है. तो टेरर फंडिंग मामले में कईयों को जेल भी भेजा जा चुका है. 35-A हटाने की चर्चा विरोधी दल के नेता इसे अनुच्छेद 35-A और अनुच्छेद 370 से जोड़ रहे हैं. विरोधियों के अनुसार कश्मीर में 100 अतिरिक्त कंपनियां भेजने का मकसद अनुच्छेद 35-ए को भंग करना है. तो वहीं कुछ लोगों का मानना है कि इससे कश्मीर में आतंकवाद पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी. नेशनल कांफ्रेंस ने जताया विरोध मोदी सरकार के इस फैसले का नेशनल कांफ्रेंस और पैंथर्स पार्टी ने विरोध जताया है. नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला और महासचिव अली मोहम्मद सागर ने कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार और राज्यपाल सत्यपाल मलिक अक्सर दावा करते हैं कि कश्मीर में हालात सुधर गए हैं. जब हालात में सुधार है तो फिर यहां सुरक्षाबलों की संख्या क्यों बढ़ाई जा रही है. Trending Tag-Aaj Ka Taja Khabar | Hindi Samachar | Mehbooa Mufti शेयर करेंLike this:Like Loading…