कस्बों और शहरों को जोड़ने वाली ‘सेवा सर्विस’ के नाम से 8 राज्यों को 9 ट्रेनों का तोहफा

0
1



मोदी सरकार में रेल और सड़क मार्गों को विकसित करने का काम बड़ी तेजी के साथ किया जा रहा है. भारतीय रेलवे ने बड़े शहरों के आसपास के छोटे शहरों को आपस में जोड़ने के लिए ‘सेवा सर्विस’ के नाम से नौ ट्रेनों की शुरूआत की.   ये ट्रेनें ‘हब एंड स्‍पोक’ मॉडल के तहत चलाई जाएंगी, जिससे यात्रियों को इन रेलगाड़ियों का उपयोग कर ‘हब’ तक पहुंचने और फिर अन्‍य प्रमुख स्‍टेशनों के लिए आगे की यात्रा करने में सुविधा होगी. यह सेवाएं बिना किसी अतिरिक्त निवेश के उपलब्ध संसाधनों के बेहतर उपयोग से शुरु की गई हैं. नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर आयोजित एक समारोह में रेल मंत्री पीयूष गोयल,  रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान और लोकसभा सांसद मीनाक्षी लेखी ने नई दिल्ली-शामली पैसेंजर (दैनिक) सेवा ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.  इन ट्रेनों का भी हुआ शुभारंभ इसके साथ ही उन्होंने वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वडनगर-महेसाणा डेमू (सप्ताह में 6 दिन)- गुजरात, असरवा-हिम्मत नगर डेमू (सप्ताह में 6 दिन)- गुजरात, करूर-सलेम डेमू (सप्ताह में 6 दिन)- तमिलनाडु, कोयंबटूर- पोलाची पैसेंजर (सप्ताह में 6 दिन)- तमिलनाडु, कोयंबटूर – पलानी पैसेंजर (दैनिक)- तमिलनाडु, यशवंतपुर – तुमकुर डेमू (सप्ताह में 6 दिन)- कर्नाटक, मुरकॉन्सेलेक- डिब्रूगढ़ पँसेंजर (दैनिक)- असम, भुवनेश्वर- नयागढ़ एक्सप्रेस (दैनिक)- असम को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. ‘कनेक्टिविटी की दिशा में बड़ा कदम’ इस अवसर पर रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि ये ट्रेनें उन सुदूरवर्ती इलाकों में कनेक्टिविटी प्रदान करेंगी जहां प्रीमियर ट्रेनों का ठहराव संभव नहीं है. ये ट्रेनें देश की आम जनता को सेवा प्रदान करने के लिए संपर्क रेलगाड़ियों के रूप में अपनी भूमिका निभाएंगी.  उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे की ‘लागत में कमी व परिसंपत्तियों के इष्‍टतम उपयोग’ पहल के तहत अतिरिक्‍त रेकों के साथ इन 9 ‘सेवा सर्विस’ ट्रेनों का परिचालन शुरू करना एक अनूठी अवधारणा है. यह नए रोलिंग स्‍टॉक की मांग किए बिना रोलिंग स्‍टॉक का बेहतर उपयोग करने संबंधी भारतीय रेलवे की रणनीतियों का एक हिस्‍सा था.  उन्‍होंने कहा कि रेलवे ने देश भर में रेलवे के परिसरों में साफ-सफाई के अभियानों, 5 हजार रेलवे स्‍टेशनों में वाई-फाई सुविधा, रेल पटरियों को स्‍वच्‍छ रखने के लिए रेल डिब्‍बों में बायो-टॉयलेट की व्‍यवस्‍था करने और देश भर में फैले रेलवे के अस्‍पतालों में आयुष्‍मान भारत की सुविधा जैसे कदम उठाए हैं. आम लोगों को होगा फायदा- डॉ. हर्षवर्धन वहीं केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि नई सेवा ट्रेनें रास्‍ते में पड़ने वाले छोटे स्‍टेशनों को कनेक्‍ट करेगी. ये ट्रेनें विशेषकर उन आम लोगों के लिए खास फायदेमंद साबित होंगी, जिन्‍हें नौकरी एवं शिक्षा के लिए महानगर आना पड़ता है. उन्‍होंने देश के आम नागरिकों के जीवन में बेहतरी के उद्देश्‍य से एक महत्‍वपूर्ण कदम उठाने के लिए रेलवे का धन्‍यवाद किया. केंद्रीय मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने भुवनेश्‍वर से नयागढ़ तक एक नई सेवा ट्रेन चलाने के लिए पीयूष गोयल और रेल मंत्रालय का आभार व्‍यक्‍त किया. उन्‍होंने ओडिशा के विकास के लिए रेलवे द्वारा उठाए गए विभिन्‍न महत्‍वपूर्ण कदमों की भी सराहना की. केंद्रीय राज्य  मंत्री सुरेश अंगड़ी ने कहा कि भारतीय रेलवे ने अपने यात्रियों को आरामदायक सेवाएं मुहैया कराने के लिए सदैव अथक प्रयास किए हैं. उन्‍होंने कहा कि कम दूरी वाली सेवा ट्रेनें देश के आम लोगों के लिए वरदान साबित होंगी. उन्होंने कहा कि रेलवे अंतिम व्‍यक्ति तक कनेक्टिविटी सुलभ कराने और नागरिकों को बेहतर सेवाएं मुहैया कराने पर निरंतर फोकस करता रहा है. ../सुशील Like this:Like Loading…