गर्भधारण का इलाज करवा रही हैं? तो यह चीजें जरूर खाएं

0
21


प्रेग्नेंट होने के लिए क्या खाएं, कई बार कुछ महिलाओं के मासिक धर्म के अनियमित होने के कारण, फैलोपियन ट्यूब से जुडी परेशानी होने के कारण, गर्भाशय से जुडी समस्या होने के कारण, प्रजनन क्षमता में कमी होने के कारण, गर्भधारण में समस्या हो सकती है। ऐसे में महिला कुछ ट्रीटमेंट करवा सकती है जिससे महिला को इन परेशानियों को दूर करके गर्भधारण में मदद मिल सके। लेकिन इलाज करवाने के साथ महिला को अपनी डाइट में कुछ ऐसे आहार को शामिल भी जरूर करना चाहिए। जिससे महिला को गर्भधारण में और ज्यादा मदद मिल सके। तो आइये आज हम आपको कुछ ऐसे ही आहार के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सेवन महिला को गर्भधारण का इलाज करवाने के साथ करना चाहिए।

प्रेग्नेंट होने के लिए खाएं हरी पत्तेदार सब्जियां

  • आयरन, फोलिक एसिड व् अन्य पोषक तत्व हरी सब्जियों में भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं।
  • जो न केवल महिला के शरीर में खून की कमी को पूरा करते हैं बल्कि गर्भाशय की भीतरी परत के विकास को बढ़ाने में मदद करते हैं।
  • जिससे महिला के गर्भधारण के चांस को बढ़ाने में मदद मिलती है।

ब्रोकली

  • जो महिलाएं गर्भधारण का प्रयास कर रही हैं या गर्भधारण का इलाज करवा रही हैं उनके लिए ब्रोकली एक बेहतरीन खाद्य पदार्थ है।
  • क्योंकि ब्रोकली में आयरन, फोलिक एसिड, विटामिन सी व् अन्य खाद्य पदार्थ भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं।
  • और अंडाशय में अंडे के विकास के लिए और निषेचन की प्रक्रिया के लिए महिला को विटामिन सी का भरपूर सेवन करने की सलाह दी जाती है।

खट्टे फल

  • खट्टे फलों में विटामिन सी उच्च मात्रा में मौजूद होता है।
  • जो अंडाशय में अंडो की गुणवत्ता को बेहतर करने के साथ अंडे को अंडाशय से निकलने में भी मदद करता है।
  • जिससे महिला के गर्भधारण के चांस को बढ़ाने में मदद मिलती है।

प्रेग्नेंट होने के लिए खाएं केला

  • जिन महिलाओं के मासिक चक्र के अनियमित होने के कारण उनकी प्रेगनेंसी में समस्या आ रही होती है।
  • उन महिलाओं को इस समस्या का इलाज करवाने के साथ केले का सेवन प्रचुर मात्रा में करना चाहिए।
  • क्योंकि केले में विटामिन बी 6 मौजूद होता है जिससे मासिक चक्र को नियमित करने और प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद मिलती है।

अंडे

  • कोलिन, फ़ोलिक एसिड, ओमेगा 3 फैटी एसिड, विटामिन डी व् अन्य पोषक तत्व अंडे में प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं।
  • और यह पोषक तत्व उन महिलाओं के लिए पूर्ण आहार के समान होते है जो गर्भवती होने का प्रयास कर रही होती है।
  • ऐसे में गर्भधारण का इलाज करवा रही महिलाओं को अंडे को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।
  • ताकि महिला को जल्द से जल्द गर्भधारण करने में मदद मिल सके।

हल्दी

  • खाने का जायका बढ़ाने के साथ हल्दी प्रजनन क्षमता को बेहतर करने में भी मदद करती है।
  • क्योंकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं।
  • इसीलिए गर्भधारण का इलाज करवा रही महिलाओं को सब्ज़ी में हल्दी का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।

मिर्ची

  • सब्ज़ी का जायका बढ़ाने के लिए मिर्ची का इस्तेमाल करें या न करें।
  • लेकिन यदि आप गर्भधारण का प्रयास कर रही है तो मिर्ची को अपने आहार में जरूर शामिल करें।
  • क्योंकि मिर्ची का सेवन करने से पूरी बॉडी यानी की प्रजनन अंगो में भी ब्लड फ्लो को बेहतर होने में मदद मिलती है।
  • जिससे गर्भधारण के चांस को बढ़ाने में मदद मिलती है।

प्रेग्नेंट होने के लिए खाएं लहसुन

  • गर्भपात की सम्भावना को कम करने के लिए, प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए, लहसुन का सेवन करना बहुत अच्छा माना जाता है।
  • क्योंकि लहसुन में मौजूद सेलेनियम गर्भधारण के चांस को बढ़ाने में मदद करता है।
  • इसीलिए गर्भधारण का इलाज करने वाली महिला को लहसुन को अपनी सब्जियों में जरूर शामिल करना चाहिए।

साल्मन मछली

  • ओमेगा 3 फैटी एसिड साल्मन मछली में प्रचुर मात्रा में होते हैं।
  • जो महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • इसीलिए यदि कोई महिला गर्भधारण न होने की समस्या का इलाज कर रही हो तो ऐसे में महिला को सालमन मछली का सेवन भी जरूर करना चाहिए।

अनानास

  • गर्भधारण के बाद अनानास का सेवन न करने की सलाह दी जाती है।
  • लेकिन यदि आप गर्भधारण की कोशिश कर रही हैं तो आपको अनानास का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • क्योंकि अनानास में मौजूद मैगनीज़ प्रजनन हॉर्मोन्स का निर्माण करने में मदद करता है।
  • जिससे गर्भधारण में आ रही परेशानियों को दूर करके महिला को गर्भधारण जल्द से जल्द करने में मदद मिलती है।
  • और ऐसा भी माना जाता है की जिन महिलाओं के शरीर में मैगनीज़ की कमी होती है।
  • उन्हें ही गर्भधारण में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

प्रेग्नेंट होने के लिए खाएं अलसी

  • ओमेगा 3 फैटी एसिड की मात्रा अलसी में मौजूद होती है।
  • जो प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है।
  • इसीलिए गर्भधारण का प्रयास कर रही महिलाओं को अलसी को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

तो यदि आप भी गर्भधारण से जुडी समस्याओं का सामना कर रही है या उसका इलाज कर रही हैं। तो आपको इन आहार को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।