चांद की ओर तेजी से बढ़ेगा Chandrayaan-2, ये हुए खास बदलाव…

0
2



भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का दूसरा मून मिशन चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) आज दोपहर को लॉन्च किया जाएगा. आज लॉन्च होने के बाद इसे चांद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने के लिए 48 दिन लगेंगे. वहीं 15 जुलाई को होने वाली लॉन्चिंग को पोस्टपोन करने के बाद इस मिशन में कई तरह के बदलाव भी किए गए हैं. इन बदलावों के साथ अब चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) को लॉन्च किया जाएगा. ये किए गए हैं बदलाव – पृथ्वी के ऑर्बिट में जाने का समय लगभग एक मिनट तक बढ़ाया गया है पहले चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) को 16.22 मिनट में पृथ्वी से 181.61 किमी जाना था. जबकि अब 16.23 मिनट में चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) को 181.65 किमी की ऊंचाई पर पहुंचेगा. – पृथ्वी के चारों तरफ अंडाकार चक्कर में बदलाव, एपोजी में 60.4 किमी का अंतर लॉन्च होने के बाद ये पृथ्वी के चारों तरफ अंडाकार कक्षा में चक्कर लगाएगा. इस दौरान इसकी पृथ्वी से सबसे कम दूरी 170 किमी जबकि पृथ्वी से सबसे ज्यादा दूरी 39120 किमी होगी. – चंद्रयान-2 तय समय पर पहुंचेगा चांद पर अब 22 जुलाई को लॉन्च होने के बाद भी चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) अपने तय समय पर ही चांद पर पहुंचेगा. यानी ये अब भी 6 सितंबर को ही चांद के दक्षिणी ध्रुव पर लैंड करेगा. ऐसा इसलिए होगा क्योंकि चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) पृथ्वी के 5 नहीं बल्कि 4 चक्कर लगाएंगी. – चंद्रयान-2 की वेलोसिटी में 1.12 मीटर प्रति सेकेंड का इजाफा किया गया है आज चंद्रयान-2 लॉन्च होने के बाद तेजी से चांद की तरफ जाएगा. ये ज्यादा गति से चांद की तरफ बढ़ेगा. ISRO के साइंटिस्ट ने इसे तय दिन यानी 6 सितंबर को ही चांद पर पहुंचाने का निर्णय किया है. इस टाइम लिमिट को तय समय पर पूरा करने के लिए ISRO ने इसकी गति यानी स्पीड को भी बढ़ाया है. शेयर करेंLike this:Like Loading…