नीरव मोदी को झटका, सिंगापुर हाईकोर्ट के आदेश पर 44 करोड़ रुपये जब्त

0
1



सिंगापुर की हाईकोर्ट ने नीरव मोदी मामले में कारवाई करते हुए पूर्वी मोदी और मानक मेहता के बैंक खाते को सील कर दिया है बैंक खाते में 6.122 मिलियन डॉलर यानी 44.41 करोड़ रुपये जमा थे नई दिल्ली. पंजाब नेशनल बैंक घोटाले (PNB Scam) के मुख्य आरोपी और भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) को बड़ा झटका लगा है. नीरव मोदी पर सिंगापुर हाईकोर्ट ने बड़ी कार्रवाई की है. सिंगापुर हाईकोर्ट ने ये कारवाई ED की सिफारिश पर की है. सिंगापुर की हाईकोर्ट ने नीरव मोदी मामले में कारवाई करते हुए पूर्वी मोदी और मानक मेहता के बैंक खाते को सील कर दिया है. बैंक खाते में 6.122 मिलियन डॉलर यानी 44.41 करोड़ रुपये जमा थे. ईडी ने इस बैंक खाते को मनी लॉड्रिंग कानून के तहत अटैच किया था. इस पर संबंधित अथॉरिटी ने 8 मार्च 2019 को कनफर्म भी कर दिया था. इससे पहले स्विट्जरलैंड के अधिकारियों ने 27 जून को नीरव मोदी और उसकी बहन के चार स्विस खातों से लेनदेन पर रोक लगा दी थी. ये जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने दी थी. भारत में नीरव मोदी के खिलाफ चल रहे आपराधिक धन शोधन (मनी लांड्रिंग) मामले के तहत ये कार्रवाई की गई थी. वर्तमान में इन खातों में कुल 283.16 करोड़ रुपये जमा हैं. ईडी के अनुरोध पर स्विटजरलैंड के अधिकारियों ने इन बैंकों के परिचालन पर रोक लगाई है. ईडी ने बताया था कि दोनों ने भारत में बैंक धोखाधड़ी से अर्जित राशि इन बैंक खातों में जमा कराई है. ब्रिटेन (Britain) की एक अदालत ने भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी की हिरासत 25 जुलाई तक के लिए बढ़ा दी है. वो करीब दो अरब डॉलर की पीएनबी धोखाधड़ी और धनशोधन मामले में भारत में वांछित है. नीरव मोदी को मार्च में लंदन में गिरफ्तार किया गया था और वो तब से वैंड्सवर्थ की एक जेल में बंद है. ब्रिटिश उच्च न्यायालय ने 12 जून को उसकी जमानत की अर्जी खारिज कर दी. ये जमानत के लिए उसकी तरफ दायर से चौथी अर्जी थी. उसके खिलाफ पिछले साल मई और जुलाई में गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था. इसके बाद अगस्त, 2018 में ब्रिटेन के अधिकारियों से नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए आग्रह किया गया था. Trending Tags – Nirav Modi | Business News | Economy news | National News | Aaj ka Samachar शेयर करें