पाकिस्तान के मंत्री चौधरी फवाद का एक और बेतुका बयान, बोले भारत ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को दी धमकी

0
1



जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही पाकिस्तान के मंत्रियों की तरफ से बेतुके बयान लगातार सामने आ रहे है. उन बेतुके बयान देने वाले मंत्रियों में अगर सबसे आगे कोई पाकिस्तानी मंत्री है तो उसका नाम है चौधरी फवाद हुसैन. जी हां ये वही चौधरी फवाद हुसैन है जो पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीक मंत्री हैं.
मंत्री चौधरी फवाद हुसैन हर बार की तरह एक बार फिर से अपने बेतुके बयान की वजह से चार्चा में हैं. फवाद हुसैन का कहना है कि भारत ने श्रीलंका के क्रिकेटरों को धमकी दी है कि अगर उन्होंने पाकिस्तान में क्रिकेट खेलने से मना नहीं किया तो उन्हें आईपीएल से बाहर कर दिया जाएगा.
इसके बाद सोशल मीडिया पर फवाद हुसैन की जमकर खिंचाई की गई. बता दें कि श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के 10 खिलाड़ियों ने पाकिस्तान दौरे पर जाने से साफ इनकार कर दिया है. इन खिलाड़िय़ों में वनडे टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने, टी-20 कप्तान लसिथ मलिंगा, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज जैसे सीनियर खिलाड़ी शामिल हैं. श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी थी.
फवाद चौधरी ने मंगवार दोपहर ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘कमेंटेटर्स से मुझे बताया कि भारत ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को धमकी दी है कि अगर उन्होंने पाकिस्तान दौरे से इनकार नहीं किया तो उन्हें IPL से बाहर कर दिया जाएगा. यह वास्तव में सस्ती रणनीति है. खेल से लेकर अंतरिक्ष तक यह एक ऐसी अंधराष्ट्रीयता है, जिसका हमें विरोध करना चाहिए, निंदा करनी चाहिए. भारतीय खेल प्राधिकरण की ओर से वाकई एक सस्ता कदम’.
Informed sports commentators told me that India threatened SL players that they ll be ousted from IPL if they don’t refuse Pak visit, this is really cheap tactic, jingoism from sports to space is something we must condemn, really cheap on the part of Indian sports authorities— Ch Fawad Hussain (@fawadchaudhry) September 10, 2019 दरअसल, पाकिस्तान में श्रीलंका की क्रिकेट टीम पर ही साल 2009 में आतंकवादी हमला हो चुका है. उस वक्त बड़ी मुश्किल से श्रीलंकाई खिलाड़ी इस हमले में बचाए जा सके थे. उसके बाद से दुनिया की कोई क्रिकेट टीम डर के मारे पाकिस्तान में खेलने जाना नहीं चाहती है. इस कारण पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का आयोजन बंद हो गया. साल 2015 में जिम्बाब्वे और 2018 में वेस्ट इंडीज की टीमें यहां सीमित ओवरों के मैच खेलने जरूर आईं लेकिन अभी भी कोई बड़ी टीम पाकिस्तान का दौरा करने के लिए राजी नजर नहीं आती. इस बार जब श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने अपनी टीम पाकिस्तान भेजने पर राजी हुई तो उनके खिलाड़ियों ने ही जाने से इनकार कर दिया. इससे हताश पाकिस्तानी मंत्री भारत पर निशाना साधने लगे.
आपको बता दें की यही पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीकी मंत्री फवाद चौधरी ने चंद्रयान-2 की विफलता पर तंज कसने में जरा भी समय नहीं लिया था. चौधरी ने चंद्रयान-2 को महज एक खिलौना करार देते हुए ट्वीट किया, ‘जो काम आता नहीं है उससे पंगा नहीं लेते डियर इंडिया’. शेयर करेंLike this:Like Loading…