पीएम मोदी ने संवाद को बताया महत्वपूर्ण, कहा- संवाद से रखी जाती है बेहतर भविष्य की नींव

0
48


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने समाज और देश के विकास के लिए संवाद को महत्वपूर्ण बताते हुए आज कहा कि संवाद के जरिये ही बेहतर भविष्य की नींव रखी जाती है। मोदी ने आज यहां एचटी लीडरशिप सम्मिट को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ‘सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास’ मंत्र के साथ मौजूदा चुनौतियों और समस्याओं के समाधान के लिए काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को निरस्त करने से जम्मू और कश्मीर तथा लद्दाख के लोगों को आशा की एक नई किरण मिली है। मुस्लिम महिलाएं अब तीन तलाक की परंपरा से मुक्त हैं, अवैध कॉलोनियों पर फैसले से 40 लाख लोगों को लाभ मिला। उन्होंने कहा, ‘‘एक बेहतर कल के लिए, एक नये भारत के लिए ऐसे कई निर्णय लिए गए हैं।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार उन जिलों पर ध्यान केन्द्रित कर रही है जो स्वास्थ, स्वच्छता और बुनियादी ढांचे के कई संकेतकों में पीछे छूट गये थे।

कुल 112 जिलों को विकास और शासन के प्रत्येक मानदंड के आधार पर, अकांक्षी जिलों के रूप में विकसित किया जा रहा है। सरकार इन जिलों में कुपोषण, बैकिंग सुविधाओं, बीमा, बिजली और अन्य सुविधाओं के लिए विभिन्न मानकों पर रियल टाइम मॉनिटरिंग कर रही है। इन जिलों का बेहतर भविष्य देश के लिए बेहतर कल को सुनिश्चित करेगा।

जल जीवन मिशन का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार 15 करोड़ घरों को पाइप जलापूर्ति से जोड़ रही है। सरकार देश की अर्थव्यवस्था को 50 खरब डालर तक ले जाने के लिए प्रतिबद्ध है और इस लक्ष्य को पाने के लिए र एक सक्षम, मददगार और प्रोत्साहक के रूप में काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कई आर्थिक सुधार जैसे ऐतिहासिक बैंक मर्जर, श्रम कानूनों की संहिता बनाना, बैंकों के पुनर्पूंजीकरण, कॉरपोरेट करों में कमी जैसे कदम उठाए गए हैं।

व्यापार सुगमता की रैकिंग में देश का प्रदर्शन अच्छा रहा है। उन्होंने कहा कि रुकी हुई आवासीय परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए 25 हजार करोड़ का फंड बनाया गया है। सरकार 100 लाख करोड़ की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की शुरुआत कर रही है। मोदी ने कहा कि देश यात्रा एवं पर्यटन प्रतियोगितात्मकता सूचकांक में 34 वें स्थान पर है।

उन्होंने बताया कि पर्यटन गतिविधियों के बढ़ने से रोजगार के अवसरों का सृजन होगा, खासकर गरीबों के लिए। उन्होंने कहा कि सरकार परिणाम आधारित परिणामोन्मुखी दृष्टिकोण के साथ काम कर रही है और सेवाओं के समयबद्ध वितरण पर ध्यान केंद्रित कर रही है। सरकार का रोडमैप ‘सही इरादा, सर्वश्रेष्ठ प्रौद्योगिकी और 130 करोड़ भारतीयों के बेहतर भविष्य के लिए प्रभावी कार्यान्वयन’ है।