पूनम महाजन के सवालों से उड़े विपक्ष के होश, शाह ने की तारीफ

0
1



नई दिल्ली. इस बार लोकसभा में बीजेपी (BJP) को सुषमा स्वराज की कमी तो जरूर खल रही होगी पर लगता है पार्टी में अपने दमदार भाषण से पूनम महाजन (Poonam Mahajan) सुषमा स्वराज की जगह ले सकती हैं.आज लोकसभा में पूनम महाजन ने दिए अपने भाषण से गृह मंत्री तक को काफी इंप्रेस किया है. दरअसल jammu kashmir में राष्ट्रपति शासन छह महीने के लिए बढ़ाने के प्रस्ताव और जम्मू-कश्मीर आरक्षण विधेयक-2019 पर लोकसभा में चर्चा में भाग लेते हुए बीजेपी सांसद पूनम महाजन ने सवाल किया कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जम्मू-कश्मीर का विषय लेकर संयुक्त राष्ट्र क्यों गए थे? आज जिस तरह से वो सवाल पूछ रही थी उससे सदन में मौजूद विपक्ष के होश उड़ गए. जिस वाक्पटुता से पूनम सवाल और जबाव कर रही थी उससे तो यही लग रहा था कि आने वाले समय में बहुत ही अच्छी वक्ता बनने वाली है. जम्मू-कश्मीर जब अभिन्न अंग था तब हमें यूएन जैसे थर्ड पार्टी के पास जाना पड़ा, क्यों दो विधान, दो प्रधान और दो संविधान थे, क्यों कश्मीरी पंडितों को वहां से भगा दिया गयाः पूनम महाजन, बीजेपी pic.twitter.com/kZRucERzoF— Lok Sabha TV (@loksabhatv) June 28, 2019 सदन में पूछे गए पूनम महाजन के सवाल-जबाव बीजेपी सांसद पूनम महाजन ने सवाल किया कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जम्मू-कश्मीर का विषय लेकर संयुक्त राष्ट्र क्यों गए थे? उन्होंने यह भी कहा कि मोदी सरकार में जम्मू-कश्मीर के युवा देश के साथ जुड़े हैं और कांग्रेस के इस दावे में कोई दम नहीं है कि राज्य के लोग अलग-थलग महसूस कर रहे हैं. पूनम ने सवाल किया कि लंबे समय तक कश्मीर में जाने के लिए परमिट क्यों लेना पड़ता था? दो झंडा और दो निशान (राजकीय चिह्न) की बात क्यों हुई? श्यामा प्रसाद मुखर्जी को बलिदान क्यों देना पड़ा? कश्मीरी पंडितों को घाटी से विस्थापित क्यों होना पड़ा? लोगों को पहले लाल चौक पर तिरंगा फहराने से क्यों रोका जाता था? पूनम ने कहा कि मोदी सरकार ने आतंकवादियों के खिलाफ सख्ती दिखाई और ‘इंसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत’ की भावना के साथ राज्य के लोगों को दिल से अपने साथ जोड़ा है. उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के हालिया कश्मीर दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल के बाद शाह देश के ऐसे दूसरे गृह मंत्री हैं, जिनके वहां जाने पर कोई विरोध और बंद नहीं हुआ और उनका स्वागत किया गया. मोदी सरकार में कश्मीर जन्नत बना हुआ है और जन्नत बना रहेगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को सोचना चाहिए कि जम्मू-कश्मीर और देश के दूसरे हिस्सों में उसकी स्थिति क्यों कमजोर हुई? बीजेपी सदस्य ने कहा कि मोदी सरकार ने आतंकवादियों के खिलाफ सख्ती दिखाई और ‘इंसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत’ की भावना के साथ राज्य के लोगों को दिल से अपने साथ जोड़ा है. उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे इलाकों में गोलाबारी का सामना करने वालों को लंबे समय तक आरक्षण से उपेक्षित रखा गया था लेकिन मोदी सरकार ने उनके हितों के बारे में सोचा है. तृणमूल कांग्रेस की प्रतिमा मंडल ने सवाल किया कि आखिर लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव क्यों नहीं कराए गए? नेशनल कांफ्रेस के हसनैन मसूदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के साथ लंबे समय से नाइंसाफी होती आ रही है. पूनम की गिनती बीजेपी के उन युवा नेताओं में की जाती है जिनमें पार्टी अपना भविष्य देख रही है. बीजेपी युवा मोर्चा की अध्यक्ष पूनम महाजन धीरे-धीरे पार्टी में अपनी एक मजबूत जगह बनाती जा रही हैं. पूनम बीजेपी के दिवंगत नेता प्रमोद महाजन की बेटी हैं. राजनीति में पिता के विरासत को आगे बढ़ा रही हैं. पिता के मौत के बाद 2006 में वो राजनीति में आईं. पूनम की हायर स्टडीज अमेरिका और लंदन में भले ही हुई है पर वो अपने पिता के नक्शे कदम पर चल रही हैं. 2019 के लोकसभा चुनाव में Mumbai North Central Seat से पूनम ने कांग्रेस की प्रिया दत्‍त को हराकर जीत दर्ज की थी. 2014 के लोकसभा चुनाव में भी पूनम ने प्रिया दत्‍त को हराया था. शेयर करें