पूर्व वित्तमंत्री Arun Jaitley की तबियत नाजुक, राष्ट्रपति कोविंद ने AIIMS जाकर लिया हालचाल

0
1



पूर्व वित्तमंत्री और बीजेपी के कद्दावर नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) इन दिनों फेफड़ों संबंधित बीमारी से जूझ रहे हैं. इस समय वे दिल्ली के एम्स (AIIMS) में अपना इलाज करा रहे हैं. आज (शुक्रवार को) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने एम्स जाकर उनका हालचाल जाना. राष्ट्रपति शुक्रवार को एम्स पहुंचे और उन्होंने जेटली का हाल जाना. उन्होंने जेटली का इलाज कर रहे डॉक्टरों से भी बातचीत कर उनकी हालत की जानकारी ली. जेटली को 9 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था.  इस वक्त वे आईसीयू में भर्ती हैं. और उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. एम्स से जुड़े सूत्रों का कहना है कि पूर्व वित्तमंत्री के फेफड़ों में पानी जमा हो गया है, जिसकी वजह से उन्हें सांस लेने में परेशानी हो रही है. बीते शुक्रवार को एम्स की ओर से जो बयान जारी हुआ था. उसके मुताबिक जेटली को हेमोडायनैमिकली स्टेबल बताया गया था. मोदी-शाह ने की थी मुलाकात 9 अगस्त को जेटली को जब एम्स में भर्ती कराया गया था, तब पीएम मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सहित पार्टी के कई बड़े नेताओं ने एम्स जाकर उनका हालचाल लिया था. लंबे समय से हैं बीमार जेटली का किडनी से संबंधित समस्याओं और कुछ संक्रमणों का इलाज चल रहा था. लंबे समय से डायबिटीज के कारण वजन बढ़ने की समस्या के चलते उन्होंने सितंबर 2014 में बैरिएट्रिक ऑपरेशन कराया था. इससे पहले उन्हें हॉर्ट सर्जरी भी हुई थी. इस साल जनवरी में वह सर्जरी के लिये अमेरिका गए थे. उनके बायें पैर में सॉफ्ट टिश्यू कैंसर है. यही वजह रही कि वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के अंतरिम बजट में पेश नहीं कर पाए. उनकी जगह रेलवे और कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने बजट पेश किया. जेटली को ये हैं शिकायतें जेटली मोटापे से छुटकारा पाने के लिए बैरिएट्रिक सर्जरी भी करा चुके हैं. कुछ दिनों पहले ही उन्हें सॉफ्ट टिशू कैंसर की बीमारी के बारे में पता चला था. डॉक्टरों की मानें तो जेटली को सिर्फ कैंसर ही नहीं है. वो पहले से भी कई तरह की बीमारियों से पीड़ित हैं. वो डायबिटीज के मरीज हैं. इसके अलावा उनका किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ है.  शेयर करेंLike this:Like Loading…