बकरीद कल… घाटी में सुरक्षा में दी गई ढ़ील

0
2



बकरीद 12 अगस्त यानी सोमवार को है. इससे पहले घाटी के माहौल पर सरकार की पूरी नजर है. आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद ये ईद का पहला मौका है. ऐसे में कश्मीर में तनाव की स्थिति बन सकती है. हालांकि अबतक ऐसी कोई अप्रिय ङटना होने की स्थिति सामने नहीं आई है. जम्मू में लगी हुई धारा 144 को हटा लिया गया है. जबकि कश्मीर में भी धारा 144 को लेकर ढ़ील दी गई है. बकरीद के त्यौहार को देखते हुए शोपियां, पुलवामा, अनंतनाग और सोपोर जैसे इलाकों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. सेना को चौकस रहने के आदेश दिए गए हैं. घाटी में सुरक्षा व्यवस्था सख्त शांति और अमन-चैन से बकरीद मनाई जाए इसके लिए घाटी में सुरक्षा व्यवस्था को टाइट किया गया है. वहीं जम्मू कश्मीर पुलिस ने एक बयान जारी कर कहा है कि राज्य में पुलिस की ओर से फायरिंग की खबरें बेबुनियाद है. बीते 6 दिनों में एक भी गोली नहीं चली है. राज्यपाल ने कहा शांति से मनेगी ईद राज्य के राज्यपाल सत्यपाल मलिक(Satyapal Malik) ने कहा है कि कश्मीर घाटी में शांति के साथ ही ईद मनाई जाएगी. हम यहां स्थिति को सामान्य बनाए रखने और इसे बरकरार रखने की कोशिश में लगे हैं. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) ने शनिवार को अनंतनाग में आम लोगों से मुलाकात की. इसके साथ ही कल यानी सोमवार को होने वाली बकरीद के लिए भी सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. डोभाल (Ajit Doval) अब खुद भी जमीन पर उतर कर काम कर रहे हैं. स्थानीय लोगों के बीच जाकर डोभाल लोगों को समझाते दिखे. उन्होंने ईद उल अजहा को लेकर पशु व्यापारियों और स्थानीय लोगों से बातचीत की. हालात का भी जायजा लिया. डोभाल ने श्रीनगर के संवेदनशील इलाकों का दौरा भी किया. दरअसल डोभाल (Ajit Doval) 15 अगस्त तक जम्मू कश्मीर में रहेंगे. तब तक डोभाल को ये सुनिश्चित करना है कि ईद का त्योहार शांतिपूर्वक हो जाए. शेयर करेंLike this:Like Loading…