बकरीद पर फ्री में कर सकेंगे इस टूरिस्ट प्लेस का दीदार

0
10



नई दिल्ली: ताजमहल देखने जाने वाले टूरिस्ट के लिए बड़ी खुशखबरी आई है. अगर आप 12 अगस्त को बकरीद के मौके पर ताजमहल देखने का प्लान बना रहे हैं तो इस दिन आप ताज के निशुल्क के दर्शन कर सकेंगे. 12 अगस्त को ईद-उल-जुहा बकरीद का त्यौहार है. इस दिन ताजमहल में विशेष नमाज अदा की जाती है. इसके चलते भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने बकरीद पर तीन घंटे तक ताजमहल में प्रवेश निशुल्क रखने का आदेश जारी किया है. अधीक्षण पुरातत्वविद् बसंत कुमार स्वर्णकार ने बताया ईद-उल-जुहा पर ताजमहल में नमाज के लिए इस दिन तीन घंटे प्रवेश निशुल्क रहेगा. ये निशुल्क सुविधा सुबह सात बजे से दस बजे तक रहेगी. निशुल्क सुविधा का लाभ देशी-विदेशी सभी टूरिस्ट उठा सकेंगे. ताजमहल में इंडयिन टूरिस्ट के लिए 50 रुपए, विदेशी टूरिस्ट के लिए 1100 रुपए, तो सार्क और बिमस्टेक देशों के टूरिस्ट के लिए 540 रुपए का टिकट लेना पड़ता है. 15 साल तक के बच्चों के लिए कोई टिकट नहीं लगता. साथ ही मुख्य गुबंद के लिए 200 रुपए का टिकट अलग से लेना पड़ता है. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने पर सुरक्षा चाक-चौबंद रखने के सख्त निर्देश दिए गए हैं. बकरीद और स्वतंत्रता दिवस को लेकर भी अलर्ट रहने को कहा गया है. ताजमहल समेत सभी प्रमुख स्थानों पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. ताजमहल हफ्ते में 6 दिन खुला रहता है. शुक्रवार को ताज को बंद रखा जाता है. ये त्योहार हर साल इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार जु अल-हज्जा महीने के 10वें दिन मनाया जाता है. इसे मुसलमानों के सबसे पवित्र त्योहारों में से एक माना जाता है. बकरीद के दिन जानवरों की कुर्बानी की परंपरा है. मुसलमान इस दिन अल सुबह की नमाज पढ़ते हैं और फिर खुदा की इबादत में चौपाया जानवरों की कुर्बानी देते हैं. इस्लाम में बलिदान का बहुत अधिक महत्व है. इस्लाम धर्म में मान्यता है कि अपनी सबसे प्यारी चीज रब की राह में खर्च करो. रब की राह में खर्च करने का अर्थ नेकी और भलाई के कामों में खर्च करने से है. शेयर करेंLike this:Like Loading…