यूपी में प्रियंका गांधी को डिटेन करने पर राहुल गांधी ने जताई नाराजगी…

0
1



नई दिल्ली. कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार सुबह वाराणसी पहुंच गईं. उनको सोनभद्र जाने से रोक लिया गया. इस मामले में यूपी के डीजीपी का बयान सामने आया की प्रियंका की गिरफ्तारी नहीं हुई है बस इनको रोका गया है. इस बीच प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने की घटना पर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विटर पर नाराजगी जताई है.  राहुल ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में प्रियंका की अवैध गिरफ्तारी परेशान करने वाली घटना है. ये सत्ता मनमानी है. 10 आदिवासी किसान परिवारों के लोगों पर उनकी ही जमीन खाली करने से इनकार करने पर क्रूरता से गोली चलाई गई. ये घटना बीजेपी सरकार के दौर में यूपी की बढ़ती असुरक्षा का खुलासा करती है’ The illegal arrest of Priyanka in Sonbhadra, UP, is disturbing. This arbitrary application of power, to prevent her from meeting families of the 10 Adivasi farmers brutally gunned down for refusing to vacate their own land, reveals the BJP Govt’s increasing insecurity in UP. pic.twitter.com/D1rty8KJVq— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) July 19, 2019 प्रियंका सोनभद्र के निकलीं लेकिन उन्हें वाराणसी-मिर्ज़ापुर बार्डर पर नारायणपुर में रोक दिया गया जिसके बाद कांग्रेस महासचिव सड़क पर ही धरने पर बैठ गईं. धरने पर बैठी प्रियंका ने कहा कि मुझे जिला प्रशासन के अधिकारी ऑर्डर की कॉपी दिखाए मुझे किस नियम के तहत रोका गया है. इसके बाद प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा है कि कोई कुछ भी कर लें मैं पीड़ितों से मिलने जरूर जाउंगी. पुलिस ने उनको हिरासत में ले लिया. प्रियंका गांधी को चुनार गेस्ट हाउस ले जाया गया. प्रियंका को चुनार गेस्ट हाउस ले गई लेकिन प्रियंका ने यहां भी धरना देना शुरु कर दिया. उन्हें मिर्जापुर के पास नारायणपुर में रोक दिया गया था. वहीं सोनभद्र में 10 लोगों की हत्या के बाद हालात बिगड़ गए हैं और धारा 144 लागू की गई है. इस दौरान कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मुझे नहीं पता कि कहां ले जाया जा रहा है, लेकिन वे जहां ले जाएंगे हम जाने को तैयार हैं. लेकिन झुकेंगे नहीं. जिला प्रशासन की इस कार्रवाई पर प्रियंका ने कहा कि मेरे वहां पर जाने से कोई कानून व्यवस्था पर असर नहीं पड़ने वाला. प्रियंका के अलावा यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी सोनभद्र की घटना पर सवाल उठाए थे. अखिलेश ने सरकार से सवाल करते हुए ट्वीट किया, ‘अपराधियों के आगे नतमस्तक बीजेपी सरकार में एक और नरसंहार. सोनभद्र में भू-माफियाओं द्वारा जमीन विवाद में नौ लोगों की हत्या दहशत एवं दमन का प्रतीक’ ये है पूरा मामला- बुधवार को प्रधान यज्ञदत्त ट्रैक्टर ट्राली में भरकर करीब 200 लोगों को लेकर घोरावल थाना इलाके के उम्भा गांव पहुंचा. उन लोगों के पास गंड़ासे और अवैध तमंचे थे. गांव वालों के मुताबिक इस जमीन का एक बड़ा हिस्सा प्रधान के नाम पर है. ग्राम प्रधान यज्ञदत्त ने एक आईएएस अधिकारी से 100 बीघा जमीन खरीदी थी. यज्ञदत्त ने इस जमीन पर कब्जे के लिए बड़ी संख्या में अपने साथियों के साथ पहुंचकर ट्रैक्टरों से जमीन जोतने की कोशिश की. स्थानीय ग्रामीणों ने इसका विरोध किया. इसके बाद ग्राम प्रधान पक्ष के लोगों ने गांव वालों पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं. जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि 23 लोग घायल हुए हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले पर विधानसभा में बयान दिया है. सीएम योगी ने कहा, ‘अब तक 29 अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. शेयर करेंLike this:Like Loading…