श्रीलंकाई खेल मंत्री ने खोली पाकिस्तान की पोल, जानिए क्या कहा

0
1



झूठ को अपनी डिप्लोमेसी का हिस्सा बना चुके पाकिस्तान को श्रीलंका ने बेनकाब कर दिया है. श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के सीनियर खिलाड़ियों के पाकिस्तान जाने से इनकार के बाद पड़ोसी मुल्क ने आरोप लगाया था कि भारत ने आईपीएल कॉन्ट्रैक्ट कैंसल करने की धमकी दी और इस वजह से इन खिलाड़ियों ने पाकिस्तान जाने से इनकार कर दिया है. अब श्रीलंका सरकार ने पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए कहा है कि खिलाड़ियों पर भारत का दबाव नहीं है, बल्कि उन्हें आतंकवाद का डर है. श्रीलंका के खेल मंत्री हरिन फर्नांडो ने पाकिस्तान के झूठ का पर्दाफाश करते हुए कहा कि दबाव जैसी कोई बात नहीं है और जिन खिलाड़ियों ने पाकिस्तान दौरे से नाम वापस लिया है उन्होंने 2009 में हुई घटना के आधार पर फैसला लिया है.
फर्नांडो ने पाकिस्तानी टीम को चुनौती देते हुए कहा, ‘जाने से इनकार करने वाले खिलाड़ियों के फैसले का सम्मान करते हुए हमने कुछ ऐसे खिलाड़ियों को चुना है जो जाने के लिए तैयार हैं. हमारे पास फुल स्ट्रेंथ टीम है और हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान को पाकिस्तान में ही हराएंगे.’
बता दें कि सोमवार को श्रीलंका के 10 खिलाड़ियों ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पाकिस्तान दौरे से अपना नाम वापस ले लिया था. श्रीलंका की टीम 27 सितंबर से 19 अक्टूबर तक पाकिस्तान के दौरे पर जाने वाली है. श्रीलंकाई टीम के टॉप खिलाड़ियों द्वारा सीरिज से नाम वापस लिए जाने पर बेसिर-पैर के बयान देने के लिए चर्चा में रहने वाले पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीकी मंत्री फवाद हुसैन ने कहा था कि उन्हें सूचना मिली है कि भारत ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों को धमकी दी है कि अगर वे पाकिस्तान जाने से इनकार नहीं करते हैं तो उन्हें आईपीएल से बाहर कर दिया जाएगा.
पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच तीन-तीन मैचों की वनडे सीरीज और टी20 सीरीज होनी है. पाकिस्तान के दौरे पर श्रीलंका को कराची में 27 सितंबर को पहला वनडे, 29 सितंबर को दूसरा वनडे और 3 अक्टूबर को तीसरा वनडे खेला है. वहीं, लाहौर में 5 अक्टूबर को पहला टी20, 7 अक्टूबर को दूसरा टी20 और 9 अक्टूबर को तीसरा टी 20 मैच खेलना है. इसके बाद दिसंबर में दोनों देशों के बीच आइसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के अंतर्गत टेस्ट सीरीज में होनी है. शेयर करेंLike this:Like Loading…