लाइफस्टाइल

अगर आपको भी जाना है पार्टी में तो जरुर ट्राई करें ये मेकअप स्टेप्स

नई दिल्ली : अगर रोजाना आपके लिए चेहरे की देखभाल करने का मतलब है, सवेरे फेसवॉश करना और फिर मॉइशचराइजर लगाना तो फिर आपके संघर्ष के बारे में हम समझ सकते हैं जब आपको मेकअप करने की जरूरत पड़ती है। अगर किसी पार्टी में जाना है और वहां आप फ्लॉलेस नजर आना चाहती हैं तो मेकअप आर्टिस्ट की सर्विस लेने में कोई बुराई नहीं है। लेकिन वहीं दूसरी तरफ थोड़ा सा मेकअप करना सीख लेने में भी कुछ गलत नहीं है। हम आपको कुछ ऐसे ट्रिक्स बताते हैं जिससे आप खुद हल्का फुल्का मेकअप कर सकते हैं। सबसे पहले अपने रेगुलर फेसवॉश से अपना चेहरा साफ़ करें या फिर आप क्लीन्ज़र का इस्तेमाल भी कर सकती हैं। याद रहे कि इसे लगाने के दौरान आप ऊपर की दिशा में अपना हाथ चलाएं। कॉटन से साफ़ करने के दौरान भी दिशा वही रखें। जब एक बार चेहरे से गंदगी साफ़ हो जाएगी तब टोनर का प्रयोग करें या फिर आप सीधे मॉइशचराइजर लगा सकती हैं। अब फाउंडेशन की बारी है। फाउ...

सर्दियों में हो गयी है ड्राई स्किन की प्रॉब्लम तो अपनाएं ये टिप्स

नई दिल्ली : सर्दियों में चेहरे की देखभाल करना ज्यादा जरूरी होता है क्योंकि इस मौसम में ड्राईनेस की समस्या होती है। आपको बता दें कि इस मौसम में सिर्फ आपका चेहरा ही ड्रायनेस की परेशानी से नहीं गुजरता, बल्कि हाथ – पैर की स्किन भी ड्राय होकर डल और बेजान हो जाती है और इससे आपकी खूबसूरती में कमी आती है। अगर आप चाहती हैं कि सर्दियों में भी आपके हाथों की कोमलता बनी रही, तो यहां जानिए लाजवाब ब्यूटी रूटीन, जिसे फॉलो कर आप अपने हाथों की खूबसूरती बनाए रख सकती हैं। हफ्ते में एक बार आप बेसन और दही से बने पैक का इस्तेमाल करें। एक चम्मच बेसन में दो चम्मच दही मिलाकर हाथों पर लगाएं और सूखने पर धो लें। आप चाहे तो दो चम्मच बटर और एक चम्मच बादाम तेल मिलाकर हफ्ते में दो बार इस्तेमाल करें। इससे ये सॉफ्ट बनेंगे और साथ ही इस पर नजर आने वाली एजिंग की निशानियां भी खत्म होगी। आपको बता दें कि चाहे चेहरे की मसाज हो या ...

इन टिप्स से आसानी से हटाएं स्किन पर लगे हेयर डाई के निशान

नई दिल्ली : चाहे आप जितने भी धैर्य और सावधानी के साथ घर पर बैठ कर हेयर डाई लगा लें, इस दौरान थोड़ा बहुत डाई तो त्वचा पर लग ही जाता है। माथे पर, कान के पास त्वचा पर या फिर हाथ में या फिर कहीं ना कहीं डाई के निशान रह ही जाते हैं। डाई का रंग त्वचा पर दिखने लगता है और यहीं से परेशानी शुरू होती है। त्वचा पर रंग लगने के बाद लोग शुरुआत में ही उसे पानी से साफ कर लेते हैं। कई बार त्वचा से डाई का निशान जाने में कुछ दिन लग जाते हैं। आपको ऐसे समय में ज्यादा हड़बड़ाने की जरूरत नहीं है। इस लेख में कुछ ऐसे तरीके बताये गए हैं जो आपकी त्वचा से डाई के निशान छुड़ाने में मदद करेगा। रुई के टुकड़े को नेल पॉलिश रिमूवर में भिगाएं और फिर जिस जगह पर डाई के निशान है वहां उसे रगड़ें। जब आप नेल पॉलिश रिमूवर को त्वचा पर लगाएंगे, उस वक्त आपको थोड़ा सा सेंसेशन महसूस होगा मगर आप इससे अपनी त्वचा को साफ करना जारी रख सकते हैं। लेकि...

आप भी लगाने जा रहे है नकली आईलैशेज तो जरुर अपनाएं ये टिप्स

नई दिल्ली : नकली आईलैशेज लगाना भी एक आर्ट है। ये देखा भी गया है कि सही आईलैशेज का चुनाव और उसे लगाने के सही तरीके से किसी की खूबसूरती में चार चांद लग सकते हैं। और ये बात सच भी है। फेक आईलैशेज आपकी आंखों को बड़ा और खूबसूरत दिखा सकता है। आप इनका इस्तेमाल करके अपने पूरे लुक में थोड़ा ड्रामा शामिल कर सकते हैं और इसके लिए आपको सही आईलैशेज का चुनाव करना भी जरूरी है। उससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण है उसे आप कैसे लगाते हैं। आज आसान स्टेप्स के जरिये जानते हैं कि आप कैसे फेक आईलैशेज लगा सकती हैं और इसके लिए किन किन चीजों की जरूरत है। नकली आईलैशेज, मस्कारा, आईलाइनर, आईलैश ग्लू, चिमटी, नकली आईलैशेज लगाना बहुत मुश्किल काम नहीं है। बस इसके लिए आपको समय, थोड़ा धैर्य और इसे लगाने की सही जानकारी की जरूरत है। सबसे पहले अपनी आंखों की असली पलकों को साफ़ करें। आप इसके लिए बिना इस्तेमाल की हुई मस्कारा ब्रश का उपयोग करें...

50 की उम्र में भी 25 का दिखना है तोह जान ले ये उपाय

एजिंग एक कुदरती प्रक्रिया है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ शरीर के अंग भी धीरे-धीरे कमजोर होने लगते हैं। ऐसे में ऊपरी चमक-दमक बढ़ाने वाली क्रीम या लोशन लगाना व्यर्थ है। अगर हम कुछ हब्र्स अपने खान-पान में शामिल करें तो भीतरी मजबूती बढ़ा कर एजिंग के लक्षणों पर ब्रेक लगाया जा सकता है। जिनसेंग –  यह हर्ब स्किन और मसल्स की टोनिंग करती है। इसके नियमित सेवन से पाचन प्रणाली दुरुस्त होती है और भूख खुल कर लगती है। हल्दी –  हल्दी शरीर के टिशू डैमेज होने से रोकती है। यह प्रभावशाली एंटी बैक्टीरियल एवं एंटी-डीजेनेरेटिव है। हल्दी झुर्रियों, दाग-धब्बों एवं एजिंग के अन्य संकेतों पर कंट्रोल रखती है। अश्वगंधा –  आयुर्वेद में इसे यौवनशक्ति बढ़ाने वाली जड़ी माना गया है। यह इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है। मानसिक रोग दूर करके यह शरीर को स्वस्थ रखती है। एनर्जी लेवल बढाती है और जोड़ों-पीठ के दर्द से भी ...

तांबे के लोटे को भूलकर भी जमीन पर न रखे हो सकते है ये नुकसान

आयुर्वेद में तांबे के लोटे में रखा पानी अमृत के समान माना गया है। जानते हैं इसके फायदों के बारे में। उपयोग : तांबा या कोई भी लोटा जिससे पानी पीना है उसे जमीन पर रखने की बजाय लकड़ी की मेज या पट्टे पर रखें क्योंकि गुरुत्वाकर्षण से तांबे में मौजूद गुणकारी तत्व पानी में अवशोषित नहीं हो पाते। तांबे के लोटे में रखे पानी को सर्दी और गर्मी दोनों मौसम में पी सकते हैं। लाभ : तांबे के लोटे में पानी रातभर रखें। सुबह कुल्ला करने के बाद खाली पेट पीने से कब्ज, एसिडिटी, गॉलब्लैडर की सिकुड़न, कुष्ठ, दाद, खुजली, एग्जिमा, हृदय, लिवर व किडनी रोगों में लाभ होता है। मात्रा व सावधानी – इस पानी को रोजाना एक गिलास या इससे अधिक मात्रा में पी सकते हैं। ध्यान रहे कि पानी को थोड़ा-थोड़ा कर पिएं वर्ना पेटदर्द भी हो सकता है। लोटे को रोजाना धोकर भरें। तांबे के गिलास या जग का भी प्रयोग किया जा सकता है। [घर बैठे रोज़...

हेडफोन का इस्तेमाल करते हो तो जानें ये खास बातें

घर, कॉलेज, मेट्रो, बस या ट्रेन। हर जगह इन दिनों एक नजारा आम देखने को मिल जाएगा, लोग कान में अपने प्यारे एमपी3 प्लेयर के हेडफोन को ठंूसे अपनी दुनिया में मगन है। कोई हिपहॉप सुन रहा है, तो कोई बॉलीवुड के आइटम सॉन्ग में मस्त है। आसपास क्या चल रहा है, उन्हें कुछ खबर ही नहीं है। मानो हर किसी की अपनी एक अलग दुनिया हो, जिसमें वह और उसके गैजेट्स। बस और कोई नहीं। जी हां, आपने जिस हेडफोन को अपनी लाइफ का अहम हिस्सा बना लिया है, वह आपको बहरा बनाकर आपकी लाइफ खराब भी कर सकता है। दिखने में छोटा सा हेडफोन इस लेवल तक का शोर पैदा कर सकता है, जो कि एक जेट प्लेन या खचाखच भरा फुटबॉल स्टेडियम भी नहीं कर सकता। डॉक्टरों का मानना है कि 15 मिनट तक भी लाउड म्यूजिक सुनने पर बहरा होने का खतरा पैदा हो सकता है।   कौन हैं आसान शिकार यूं तो आधुनिक शहरी समाज में हमारे चारों ओर हमेशा ही किसी न किसी तरह का शोर होता रहता है, ज...

लहसुन भी ले सकता है जान भूलकर भी न करे सेवन इन बीमारियों में

ज्यादातर हर किसी के घर की रसोई में लहसुन उपलब्ध होता है जो खाने में तो स्वाद बढ़ाता ही है. साथ ही हमारी सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होता है. ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति सुबह खाली पेट लहसुन का सेवन करता है उसे पेट से जुड़ी कोई समस्या नहीं होती है. इसकी तासीर ग्रम होने की वजह से कई लोग लहसुन का सेवन ठंड के मौसम में ज्यादा करना पसंद करते हैं. वहीं क्या आपको इस बात अंदाजा है कि लहसुन का सेवन करना हर किसी के लिए फायदेमंद साबित नहीं होता है और इससे जान को खतरा भी हो सकता है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि लहसुन किस परिस्थति में लाभकारी नहीं होता है और इसका सेवन कब नहीं करना चाहिए. जिस व्यक्ति के खून में हीमोग्लोबिन की कमी होती है, उन्हें लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसमें लहसुन का ज्यादा सेवन करने से हीमोलाइटिस एनीमिया आपको अपनी चपेठ में ले सकता है. जिन लोगों को ब्लडप्रेशर की...

जानिए डायमंड फेशियल के फायदों के बारे में, कैसे करता है ये स्किन पर काम

नई दिल्ली : आपने डायमंड फेशियल के बारे में तो सुना ही होगा। आपमें से कई लोग अपनी सुंदरता को निखारने के लिए ये फेशियल करवाते ही होंगे। अगर आप भी डायमंड फेशियल और इसके फायदों के बारे में जानना चाहती हैं तो इस पोस्‍ट को ज़रूर पढ़ें। आज इस पोस्‍ट के ज़रिए हम आपको बताने जा रहे हैं डायमंड फेशियल के फायदों के बारे में और ये कैसे स्किन पर काम करता है। तो चलिए जान लेते हैं कि आपकी स्किन के लिए डायमंड फेशियल कितना ज़रूरी है। त्‍वचा में जब कोलाजन का उत्‍पादन कम हो जाता है तो स्किन कमज़ोर और ढीली पड़ने लगती है। इससे त्‍वचा में लचीलापन कम होने लगता है। डायमंड फेशियल त्‍वचा में कोलाजन का उत्‍पादन बढ़ाकर उसे मज़बूत और टाइट करता है। इसके अलावा फेशियल क्रीम में डायमंड डस्‍ट होता है और ऐसे कई अन्‍य एजेंट्स होते हैं जो त्‍वचा में कसाव लाते हैं। डायमंड फेशियल में इस्‍तेमाल होने वाली क्रीम और जैल स्किन को मॉइश्‍चर...

सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है कद्दू का रस

कद्दू ठंडक पहुंचाने वाला होता है। इसे डंठल की ओर से काटकर तलवों पर रगड़ने से शरीर की गर्मी खत्म होती है। कद्दू लंबे समय के बुखार में भी असरकारी होता है। इससे बदन की हरारत या उसका आभास दूर होता है। कद्दू का रस भी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह मूत्रवर्धक होता है और पेट संबंधी गड़बड़ियों में भी लाभकारी रहताहै। यह खून में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करने में सहायक होता है और अग्नयाशय को भी सक्रिय करता है। इसी वजह से चिकित्सक मधुमेह के रोगियों को कद्दू के सेवन की सलाह देते हैं। कद्दू के बीज भी बहुत गुणकारी होते हैं। कद्दू व इसके बीज विटामिन सी और ई, आयरन, कैलशियम मैग्नीशियम, फॉसफोरस, पोटैशियम, जिंक, प्रोटीन और फाइबर आदि के भी अच्छे स्रोत होते हैं। यह बलवर्धक, रक्त एवं पेट साफ करता है, पित्त व वायु विकार दूर करता है और मस्तिष्क के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। प्रयोगों में पाया गया है कि ...

कुछ ही दिनों दूर होगा मोटापा लेनी होगी इस प्रकार डाइट

दुनियाभर में माेटापे से जुझ रहे लाेगाें के माेटे हाेने के पीछे सबसे बढ़ा कारण उनका खानपान है, वाे भी ऐसा खाना जाे उनकी सेहत काे नुकसान पहुंचा रहा है।ज्यादा तला भुना खाना, जरूरत से ज्यादा घी- मक्खन का इस्तेमाल, जंक फूड को पसंद करना व बार-बार खाना खाने की आदत लाेगाें काे माेटा कर बीमार कर रही है। इस तरह के खानपान से पेट, थाईस, हिप, बाजू के ऊपर व कमर के नीचे के हिस्से में चर्बी के रूप में जमा होने लगती है। अगर आप माेटापे से बचना चाहते हैं ताे आज हम आपकाे बताते हैं कि किस तरह के खानपान काे अपनाकर आप माेटापे से दूर रह सकते हैं। जानिए यहां :- – दिन में ज्यादा प्रोटीन लें व काब्रोहाइड्रेट कम कर दें। – कुछ ऐसे शौकों पर समय लगाइए जिनसे आप खाना भूलकर इन को इंजाय कर सकें जैसे खेल, हॉबी के काम व बागवानी आदि। तेजी से चलना व घूमना भी इसी के अंग हैं। – कम कैलोरी का खाना खाइए, मीठा कम कर...

करे ये घरेलू नुस्खा और घने, काले, मजबूत बाल पाएं

काले, लम्बे, घने लहलहाते बाल महिलाआें की खास चाहत हाेती, क्याेंकि ये उनकी खूबसूरती में चारचांद लगाने का काम करते हैं। लेकिन आजकल की भागदाैड़ भरी जिंदगी में बालाें की सही तरह से देखभाल ना हाेने की वजह से वाे बेजान हाे जाते हैं। अगर आप चाहे ताे कुछ घरेलू हेयर मास्क के जरिए बालाें की खूबसूरती बनाए रख सकते हैं।ताे जानते हैं इन खास हेयर मास्क के बारे में :- अंडा, दही और सरसों का तेल अगर आपके बाल रूखे हैं ताे अंडा, दही और सरसों के तेल का हेयर मास्क आपकाे इस समस्या से छुटकारा दिला देगा। अंडे विटामिन ए, बी 12, डी और ई, फैटी एसिड और प्रोटीन से भरपूर होते हैं। यह प्रोटीन बालाें की जड़ों को मजबूत करने में मदद करता है, फैटी एसिड इसे एक प्राकृतिक हेयर कंडीशनर बनाता है और बी 12 बालाें काे मजबूत बनाता है। एवोकैडो और पेपरमिंट ऑइल मक्खन नाशपाती के ताैर पर मशहूर एवोकैडो बालाें काे पाेषण देने में महत्वपूर्ण ...

  • 1
  • 2
  • 7

Lost Password

Register