POCSO बिल पर चर्चा के दौरान Derek O’Brien ने Rajya Sabha में सुनाई आपबीती

0
17



राज्यसभा (Rajya Sabha) में आज (बुधवार को) POCSO संशोधन बिल को ध्वनिमत से पारित कर दिया गया. राज्यसभा में इस बिल पर जब चर्चा चल रही थी, तब टीएमसी (TMC) सांसद डेरेक ओ ब्रायन (Derek O’Brien) ने अपनी आपबीती सुनाई. उन्होंने सदन में कहा कि बचपन में वे भी यौन शोषण के शिकार हो चुके हैं. उन्होंने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा कि कोलकाता में 13 साल की उम्र में जब मैं टेनिस प्रैक्टिस के बाद एक भीड़ से भरी बस में जाकर बैठा था, उस वक्त मैंने हाफ पेंट और टी शर्ट पहन रखी थी. मुझे नहीं पता कि वो कौन था लेकिन तब मेरा यौन उत्पीड़न हुआ था. शुरू में 6-7 तक यह बात किसी को नहीं पता थी, फिर मैंने परिजनों को इसके बारे में बताया. उन्होंने कहा कि हम सजा पर खूब बात कर चुके हैं लेकिन संरक्षण पर कम ही बात होती है. उन्होंने कहा कि इससे कैसे बचा जाए यह सबसे ज्यादा जरूरी है. बच्चों के यौन शोषण के अधिकतर मामलो में रिश्तेदार या पड़ोसी अपराधी होते हैं. टीएमसी सांसद ने कहा कि ऐसे मामले घरों से शुरू होते हैं, कई बार तो रिश्तेदार ही शामिल होते हैं. उन्होंने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा कि उस वक्त मैं बेहद डरा हुआ था. प्रोग्रेसिव फैमिली से होने के बावजूद मैं अपने पैरंट्स को इस बारे में कुछ नहीं बता पाया. यह अपराध है. शोषण और इस तरह की हरकतों के खिलाफ कुछ न करना, खामोश रहना खुद में एक बड़ा अपराध है उन्होंने कहा कि बच्चों को शिकायत करने का मौका भी नहीं मिलता है. कई बार सार्वजनिक स्थानों पर भी ऐसी शिकायतें आती हैं. बिल का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि इस बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजकर और मजबूती देने के बाद भी लाया जा सकता था. इस विषय पर जागरुकता की भी जरूरत है. डेरेक ने कहा कि यदि हम वाकई बदलाव लाना चाहते हैं तो हमें एकदम बुनियाद से शुरुआत करनी होगी. हमें यह साफ संदेश देना होगा और ऐसा माहौल तैयार करना होगा कि अगर किसी महिला के साथ बस में कुछ होता है और वह शोर मचाती है तो बाकी लोग बेझिझक उसका साथ देने के लिए आगे आएं. शेयर करेंLike this:Like Loading…