TN Seshan का निधन, पीएम समेत कई दिग्गज नेताओं ने जताया शोक

0
1



पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का रविवार को 86 साल की उम्र में निधन हो गया है. अपने कड़े रूख और भारत में चुनाव नियमों को सख्ती से लागू करने के लिए टीएन शेषन को जाना जाता है. खास बात रही की उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान पीएम नरसिम्हा राव से लेकर बिहार के मुख्यमंत्री रहे लालू प्रसाद यादव में से नियमों के मामले में किसी को नहीं बख्शा था. शेषन के बारे में टीएन शेषन का निधन 86 वर्ष की उम्र में हुआ. रविवार को दिल का दौरा पड़ने से चेन्नै में उनका निधन हो गया. वर्ष 1990 से 1996 तक जब वो देश के मुख्य चुनाव आयुक्त थे उन्होंने निष्पक्ष चुनावों को लेकर देश में राजनीति की दशा को ही बदल दिया था. आज भारतीय चुनाव व्यवस्था में जो भी पारदर्शिता है, उसका श्रेय शेषन को ही जाता है. पहली बार 4 चरणों में करावाया चुनाव अपने कार्यकाल में शेषन ही वो चुनाव आयुक्त बने जिन्होंने बिहार में पहली बार 4 चरणों में चुनाव कराया. इस दौरान चार बार चुनाव की तारीखें भी बदली. शेषन ने कई चुनाव रद्द करवाए और बिहार में बूथ कैप्चरिंग रोकने के लिए सेंट्रल पुलिस फोर्स का इस्तेमाल किया. शेषन देश के 10वें मुख्य चुनाव आयुक्त थे. इससे पहले वो कई मंत्रालयों में महत्वपूर्ण पदों पर जिम्मेदारी निभा चुके थे. सिर्फ यही नहीं शेषन पहले APS एग्जाम में टॉपर थे. इसके बाद उन्होंने 1954 में 21 साल की उम्र में IAS का एग्जाम दिया, जिसमें उन्होंने टॉप किया. यानी की वो 1955 बैच के IAS अधिकारी थे. उन्हें हिंदी, अंग्रेजी के अलावा तमिल, मलयालम, संस्कृत, कन्नड़, मराठी और गुजराती भाषा भी आती थी. वहीं शेषन के निधन पर पीएम नरेंद्र मोदी ने भी शोक जताया है. उन्होंने अपने ट्वीटर पर ट्वीट किया कि उनके निधन से दुख पहुंचा. Shri TN Seshan was an outstanding civil servant. He served India with utmost diligence and integrity. His efforts towards electoral reforms have made our democracy stronger and more participative. Pained by his demise. Om Shanti.— Narendra Modi (@narendramodi) November 10, 2019 मोदी ने लिखा कि टीएन शेषन एक शानदार जनसेवक थे. उन्होंने पूरी लगन और ईमानदारी से भारत की सेवा की. चुनाव सुधारों के लिए किए गए उनके प्रयासों ने हमारे लोकतंत्र को और मजबूत और अधिक सहभागी बनाया है. उनके निधन से गहरा दुख पहुंचा है. Saddened by the demise of former Chief Election Commissioner, Shri T N Seshan ji. He played a transformative role in reforming and strengthening India’s electoral institution. The nation will always remember him as a true torchbearer of democracy. My prayers are with his family.— Amit Shah (@AmitShah) November 10, 2019 केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लिखा की पूर्व चीफ इलेक्शन कमीश्नर टीएन शेषन के निधन से दुख हुआ. भारतीय चुनाव व्यवस्था को बदलने के लिए उन्होंने बड़ी अहम भूमिका निभाई थी. Saddened by the demise of Shri TN Seshan. He was a true legend.
His contribution towards election reforms will be the guiding light for years to come. My deepest condolences. Om Shanti!— Nitin Gadkari (@nitin_gadkari) November 10, 2019 Late TN Seshan was an accomplished civil servant, best remembered for reforming the Election Commission of India.As Chief Election Commissioner, Seshan ji galvanised India’s youth to actively participate in the world’s largest democratic exercise.May his soul rest in peace pic.twitter.com/Id0amfVm1T— Milind Deora मिलिंद देवरा (@milinddeora) November 10, 2019 Like this:Like Loading…